ब्रिटेन को आज नया नया प्रधानमंत्री मिल गया है। लिज ट्रस ब्रिटेन की नए प्रधानमंत्री बन गई हैं। लिज ट्रस ने भारतीय मूल के ऋषि सुनक को हरा दिया है। बता दें कि पहले पांच राउंड के मुकाबले में ऋषि सुनक को भारी बढ़त हासिल थी, लेकिन कंजरवेटिव पार्टी के सदस्यों की अंतिम वोटिंग के दौरान लिज ट्रस ने जीत हासिल की है।

पीएम मोदी ने दी लिज ट्रस को शुभकामनाएं
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के रूप में चुने जाने के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर उन्हें बधाई दी है। पीएम मोदी ने लिखा कि ‘बधाई हो लिज ट्रस… यूके के अगले पीएम चुने जाने के लिए। विश्वास है कि आपके नेतृत्व में भारत-यूके व्यापक रणनीतिक साझेदारी और मजबूत होगी। आपको आपकी नई भूमिका और जिम्मेदारियों के लिए शुभकामनाएं।

जानें कौन हैं लिज ट्रस?
लिज ट्रस की जिंदगी भी काफी रोचक है। ट्रस इस वक्त ब्रिटेन की विदेश मंत्री हैं। सरकारी स्कूल में पढ़ीं 47 साल की ट्रस के पिता गणित के प्रोफेसर और मां एक नर्स थीं। लेबर पार्टी समर्थक परिवार से आने वालीं ट्रस ने ऑक्सफोर्ड से दर्शन, राजनीति और अर्थशास्त्र की पढ़ाई की है। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने कुछ समय के लिए अकाउंटेंट के रूप में भी काम किया। इसके बाद वह राजनीति में आ गईं। 

लिज ट्रस का राजनीतिक सफर
लिज ट्रस ने सबसे पहला चुनाव पार्षद का जीता था। लिज का परिवार लेबर पार्टी का समर्थक था, लेकिन ट्रस को कंजरवेटिव पार्टी की विचारधारा पसंद आई। ट्रस को राइट विंग का पक्का समर्थक माना जाता है। 2010 में ट्रस पहली बार वह सांसद चुनी गईं। ट्रस शुरुआत में यूरोपियन यूनियन से अलग होने के मुद्दे खिलाफ थीं। हालांकि, बाद में ब्रेग्जिट के हीरो बनकर उभरे बोरिस जॉनसन के समर्थन में आ गईं। ब्रिटिश मीडिया अक्सर पूर्व प्रधानमंत्री मार्गरेट थ्रेचर से उनकी तुलना करता है।  

कौन हैं ऋषि सुनक जो लिज ट्रस से हारे
ब्रिटेन में कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों की वोटिंग के पांचों राउंड में ऋषि सुनक ने लिज ट्रस को मात दी थी। माना जा रहा है कि बोरिस जॉनसन खुद ऋषि सुनक के प्रधानमंत्री बनने के पक्ष में नहीं थे। लकिन भारतीय मूल के ऋषि सुनक कंजरवेटिव पार्टी के सदस्यों की अंतिम वोटिंग में पीछे रह गए और लिज ट्रस को जीत मिली।

ऋषि सुनक का जन्म 12 मई 1980 को ब्रिटेन के साउथेम्पटन में हुआ था। उनकी मां का नाम ऊषा सुनक और पिता का नाम यशवीर सुनक था। वह तीन भाई बहनों में सबसे बड़े हैं। उनके दादा-दादी पंजाब के रहने वाले थे। 1960 में वह अपने बच्चों के साथ पूर्वी अफ्रीका चले गए थे। बाद में यहीं से उनका परिवार इंग्लैंड शिफ्ट हो गया। तब से सुनक का पूरा परिवार इंग्लैंड में ही रहता है। 

ऋषि सुनक ने 2014 में पहली बार राजनीति में कदम रखा। 2015 में उन्होंने रिचमंड से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 2017 में उन्होंने एक बार फिर जीत मिली। इसके बाद 13 फरवरी 2020 को उन्हें इंग्लैंड का वित्त मंत्री बनाया गया। इसी साल ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन पर तमाम तरह के आरोप लगे तो ऋषि सुनक ने इस्तीफा दे दिया। इसके बाद लगातार जॉनसन कैबिनेट के कई मंत्रियों ने इस्तीफा दिया।  

You missed