नेपाल के रहने वाले राजेंद्र रेग्मी 20 दिनों तक निराहार रहकर तोड़ा ऑस्ट्रिया के एंड्रियास मिहावेज़ के 18 दिनों का रिकॉर्ड 

काठमांडू : आपने अपने ज़िंदगी में एक से बढ़कर एक चमत्कार की बातें सुनी होगी। लेकिन क्या आपने कभी ऐसे चमत्कारी बाबा को देखा है जिसने 1 साल से बिना खाना पीना खाये जिन्दा हो। आज हम आपको बता रहे हैं एक ऐसे ही चमत्कारी निराहारी बाबा के बारे में जिसके अंदर एक से बढ़कर एक अलौकिक शक्तियां मौजूद है। निराहारी बाबा जो पिछले 13 महीनों से न तो भोजन किया है और ना ही पानी पिया है। नेपाल की राजधानी काठमांडू में रहने वाले इस बाबा का नाम है राजेंद्र रेग्मी जिन्हें लोग अब निराहारी बाबा के नाम से भी जानने लगे हैं। ये बाबा अभी हाल ही में आस्ट्रिया निवासी एंड्रियास मिहावेज़ के 18 दिनों तक निराहार रहने के गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।

सांसद ने की अनुसंसा 

हालांकि इनका नाम अभी गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज नहीं हुआ है लेकिन जल्द ही इनका नाम गिनीज बुक में दर्ज हो जायेगा। सीसीटीवी के निगरानी में इन्हें 20 दिनों तक रखा गया जिसके कई सारे सबुत मौजूद है। जिसके आधार पर नेपाली कांग्रेस के सांसद ने नेपाल सरकार से इनके नाम की अनुसंसा की है।

निराहारी बाबा के ऊपर दवा भी बेअसर 

इस बाबा के अंदर इतनी दैवीय शक्ति मौजूद है जो किसी रहस्य से कम नहीं है। एक आम इंसान के लिए नींद की दो गोलियां काफी होती है सोने के लिए, लेकिन 20 से अधिक गोलियां खाने पर भी इन्हें नींद नहीं आती है। बीपी और दर्द की 30-40 गोलियां खाने के बाद भी इनके शरीर को कुछ भी नहीं होता है। यूं कह सकते हैं की मेडिकल साइंस के लिए खुली चुनौती है ये बाबा राजेंद्र रेग्मी। आश्चर्य तो तब होता है जब महीनों से निराहार रहने के बावजूद भी इन्हें पेशाब आती है।

खौलते हुए पानी से करते हैं स्नान, फिर भी नहीं जलता शरीर 

एक आम इंसान के लिए ठंढ़ के मौसम में गुनगुने पानी से नहाना तो आसान है लेकिन खौलते हुए पानी से स्नान करना नामुमकिन है। लेकिन बात जब निराहारी और चमत्कारी बाबा राजेंद्र रेग्मी की हो तो इनके लिए कुछ भी असंभव नहीं है। कैमरे के सामने इन्होंने खौलते हुए पानी से लगभग 1घंटे तक स्नान किया, जो किसी चमत्कार से कम नहीं है।

खुली आँखों से घंटों सूर्य को देखते हैं निराहारी बाबा 

आमतौर पर किसी भी इंसान के लिए खुली आँखों से सूर्य की तेज किरणों को लगातार कुछ समय तक देखना मुश्किल होता है। वहीं इस निराहारी बाबा के लिए ये इतना ही आसान है। जब ये घंटों तक खुली आँखों से सूर्य की तेज किरणों को लगातार देखते रहते हैं। अगर एक आम आदमी इस तरह से सूर्य की और लगातार घंटों तक देखे तो उसकी आँखों की रौशनी चली जाएगी। जब हमने बाबा से पूछा की ऐसा कैसे कर पाते हैं तो बड़े ही आराम से कहा उन्होंने इसी से तो हमें ऊर्जा मिलती है।

ट्रस्ट बनाकर जनकल्याण करना चाहते हैं बाबा

निराहारी बाबा की प्रबल इक्षा है कि एक ट्रस्ट बनाकर जरूरतमंद और असहाय लोगों की भरपूर मदद किया जाए। बाबा का मानना है कि न सिर्फ नेपाल बल्कि भारत में भी जरूरतमंद और असहाय लोगों की मदद करेंगे। खासकर शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में लोगों की हर संभव मदद किया जायेगा।

भारत सरकार से सहयोग चाहते हैं बाबा 

नेपाल सरकार की उदासीनता से बाबा थोड़े नाराज भी दिखे। उन्होंने कहा कि हमारे अंदर जो भी अलौकिक शक्तियां मौजूद है उसको लेकर नेपाल सरकार के स्वास्थ्य विभाग उनके शरीर पर शोध करे। लेकिन नेपाल सरकार के तरफ से किसी भी तरह के स्वस्थ्य परीक्षण नहीं कराये जाने से बाबा निराश भी दिखे। साथ ही बाबा भारत सरकार का सहयोग चाहते हैं। बाबा का मानना है कि मेरा एक घर भारत भी है इसलिए वहां की सरकार और स्वस्थ्य विभाग उनके शरीर पर शोध करें की आखिर उनमे ये दैवीय शक्ति का रहस्य क्या है।

बता दें कि निराहारी बाबा उज्जैन के भगवान महाकाल के अनन्य भक्त हैं। भारत के जितने भी प्रमुख तीर्थस्थल हैं उन सभी जगहों पर जा कर पूजा अर्चना कर चुके हैं। गंगाजल को दुनिया की सबसे अद्भुत चीज मानते हैं ये बाबा। वाकई में अद्भुत अकल्पनीय और रहस्यों से भरे हैं ये निराहारी बाबा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top